Bhamashah Yojana : भामाशाह योजना

भामाशाह योजना

का उद्देश्य सभी राजकीय योजनाओं के नगद एवं गैर नगद लाभ को प्रत्येक लाभार्थी को सीधा पारदर्शी रुप से पहुँचाना है। यह योजना राशन कार्ड, पेन्शन, उच्च एवं तकनीकी शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति, जैसे लाभार्थियों को भी सम्मिलित करेगी। यह योजना परिवार को आधार मानकर उनके वित्तीय समावेश के लक्ष्य को पूरा करती है, जहाँ हर परिवार को ‘भामाशाह कार्ड’ दिया जाएगा जो उनके बैंक खातों से जुड़े होंगे। यह बैंक खाता परिवार की मुखिया, जो कि महिला होगी, के नाम से होगा और वह ही इस खाते की राशि को परिवार के उचित उपयोग में कर सकेगी। यह कार्ड बायो-मैट्रिक पहचान सहित कोर बैंकिंग को सुनिश्चित करता है। इसके अन्तर्गत, प्रत्येक परिवार का सत्यापन किया जाएगा और पूरे राज्य का एक समग्र डेटाबेस बनाया जाएगा। इसके माध्यम से ड्यूप्लिकेशन को भी जाँचा व दूर किया जा सकेगा। सभी जनसांख्यिकी और सामाजिक मापदण्डों को विभिन्न विभागों द्वारा पात्रता के लिए इसमें सम्मिलित किया जाएगा। भामाशाह कार्ड योजना मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की यह एक महत्वाकांक्षी योजना है राजस्थान प्रदेश वासियों के लिए जिसमे उन्होंने महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया है एक तरह से और ये योजना मुख्यत प्रधानमंत्री जान धन योजना इस मिलती जुलती है लेकिन एक खास फर्क है इन दोनों में वो है कि “जन धन योजना आर्थिक रूप से कमजोर और उन परिवारों के लिए है, जिनका कोई बैंक खाता नहीं है। इसमें एक परिवार के किसी दो सदस्य का बैंक खाता खोला जाता है और उसके साथ 1 लाख रूपए का दुर्घटना बीमा दिया जाता है। जबकि भामाशाह योजना राजस्थान के परिवारों की महिला प्रमुखों के लिए है। ”

भामाशाह योजना के तहत महिलाओं को क्या क्या लाभ दिए जायेंगे आईये जानते है :-

  • यह योजना मुख्यत राज्य की सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदेश की गरीब महिलाओं को सीधे सीधे पहुँचाने के लिए शुरू की गयी है ।
  • इस योजना के अंतर्गत राज्य की डेढ़ करोड़ महिलाओं का पंजीयन किया जायेगा और उनका बैंक खाता खोला जायेगा ।
  • महिलाओं को बैंक खाता खोलने के लिए भामाशाह कार्ड के लिए पंजीयन होना आवश्यक होगा ।
  • इस योजना के तहत परिवार की प्रमुख महिला को एक बायोमेट्रिक कार्ड जारी किया जायेगा और एक अनुमान के अनुसार सरकार के पास राज्य की सभी महिलाओं का बायोमेट्रिक डेटा जो है वो मार्च २०१५ तक उपलब्ध हो जायेगा ।
  • इस योजना में महिलाओं को तीस हज़ार तक का मुफ्त मेडिकल बीमा और गंभीर बीमारी की अवस्था में तीन लाख तक की सहायता दी जाएगी।
  • इस योजना के तहत स्टूडेंट्स और विक्लांग लोगों के लिए एक विशेष कार्ड जारी किया जाएगा। इससे उन लोगों को आर्थिक सहायता समेत विशेष सुविधाएं मिलेंगी, जो अपने परिवार के साथ नहीं रहते हैं ।
  • न केवल महिला जबकि पुरुष भी इस कार्ड को बनवा सकते है लेकिन उन्हें बीस या पच्चीस रूपये अतिरिक्त भुगतान करना होता है ।